होम्योपैथी में पित्त की थैली में पथरी का इलाज | पित्ताशय की पथरी का होम्योपैथिक इलाज

यहाँ विस्तार से होम्योपैथी में पित्त की थैली में पथरी का इलाज ( homeopathic medicine for gallbladder stone in hindi ) वर्णित की गया है। हमारे शरीर में पित्त, वसा (Fat) को कम करने में मदद करता है और इस तरह छोटी आंत में वसा (Fat) के अवशोषण में सहायता करता है। यह पेट से आने वाला भोजन को अम्लीय बनाता है ताकि अग्नाशयी एंजाइमों की क्रिया को सक्षम किया जा सके। शरीर को पित्त की जरूरत है। लेकिन अगर इसमें बहुत अधिक कोलेस्ट्रॉल होता है, तो यह पित्त पथरी की अधिक संभावना है।

पित्त की थैली में पथरी का कारण

  • पित्त में कोलेस्ट्रॉल या बिलीरुबिन की मात्रा अधिक होने पर पित्ताशय में पथरी बनती है।
  • पित्त में अन्य पदार्थ के उपस्थिति पत्थरों के निर्माण को बढ़ावा दे सकते हैं।
  • जिगर की बीमारी (liver disease) या रक्त रोग (Blood disease),जिनमे बिलीरुबिन का उच्च स्तर होता है, उन लोगों में पत्थर सबसे अधिक बार होते हैं।
  • दुर्बल मांसपेशी पित्ताशय की थैली को पूरी तरह से खाली करने से रोक सकता है।अवशिष्ट पित्त की उपस्थिति पित्त पथरी के निर्माण को बढ़ावा दे सकती है।
होम्योपैथी में पित्त की थैली में पथरी का इलाज

होम्योपैथी में पित्त की थैली में पथरी का इलाज | पित्ताशय की पथरी का होम्योपैथिक इलाज

  • China 6 – पित्त पथरी की बहुत दर्द के दौरान यह दवाई लेने से दर्द कम हो जाता है। यदि आप प्रतिदिन 1/2 बूंदों का सेवन करते हैं, तो नए पत्थरों का निर्माण के सम्भाबना नहीं रहता है।
  • Calcarea Carb 30 – पित्ताशय की पथरी और किडनी में पथरी इन दोनों पथरी के इलाज के लिए यह दवाई बहुत असरदार है।यह दवा पथरी रोगों के लिए एक एंटीडोट है। अगर दर्द के दौरान रोगी के बहुत पसीना निकलता है तब यह दवाई अधिक असरदार होता है।
  • Diascorea 30 – जब पित्त पथरी का दर्द यकृत की साइट से दाहिने स्तन तक और कभी-कभी अन्य स्थानों तक फैलता है ।
  • Berberis Vulgaris Q – दाहिनी पसली के निचले हिस्से में दर्द, दर्द कलेजे की जगह से ऊपर आकर पसलियों में घोंचता है। कभी कभी यह दर्द पेट में भी होता है। मिट्टी जैसा या राख के रंग जैसा मल।
  • Carduus Mar Q – यह पित्त पथरी के भयानक दर्द के लिए बहुत उपयोगी है। इसका नियमित रूप से सेवन करने से नए पथरी नहीं होती है। यह विभिन्न प्रकार के पीलिया (Jaundice) के लिए एक उत्कृष्ट दवा है।
  • Mentha Pip Q – महिलाओ के पित्त पथरी रोग में जब कोई भी दवाई काम नहीं करता है, तब यह दवाई लेने से आश्चर्य तरीखे से रहत मिलता है।
  • Cholesterinum 3x – यह यकृत की वृद्धि, यकृत में कैंसर रोकता है। पित्त में पथरी बनने से रोकता है।

China , Berberis Vul , Calcarea carb , Mentha Pip ये सभी दवाएं गुर्दे में पथरी और पित्ताशय की पथरी का होम्योपैथिक इलाज दोनों में ही प्रयोग होता है।

R7 : होम्योपैथी में पित्त की थैली में पथरी का इलाज

इसके अलावा जर्मनी के Dr. Reckeweg कंपनी के R7 होम्योपैथी में पित्त की थैली में पथरी का इलाज है जो बहुत असरदार है।

और पढो : गुर्दे की पथरी (kidney stone) के लिए होम्योपैथी दवा